UPPCL Self Bill Generation Online: अब घर बैठे अपना बिजली का बिल बना सकेंगे उपभोक्ता, बस ये तरीका करना होगा फॉलो

Join Telegram group Join Now

UPPCL Self Bill Generation Online: उत्तर प्रदेश के बिजली उपभोगताओं की बिजली बिल ज्यादा बन जाने की समस्या का निदान ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने कर दिया है। अब एक महीने में जितनी रीडिंग मीटर में चलेगी, आप उतनी ही रीडिंग डालकर अपना खुद का बिल ऑनलाइन सकतें हैं। और समय से अपने बिल का भुगतान कर सकतें हैं। आपको बता दें कि विद्युत उपभोक्ताओं को बिलिंग संबंधी समस्याओं से मुक्ति दिलाने के लिए ऊर्जा विभाग ने ”ट्रस्ट बिलिंग” की पहल कर दी है।

अब UPPCL Self Bill Generation की इस प्रक्रिया से समय से बिल न मिलने, गलत रीडिंग और गलत बिलिंग जैसी समस्याओं का समाधान हो जाएगा। जानकारी के लिए बता दें कि विद्युत विभाग के ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने जल निगम के फील्ड हॉस्टल में ”ट्रस्ट बिलिंग” की शुरुआत के साथ ही कंज्यूमर ऐप को भी लॉन्‍च कर दिया है।

अब आपको बिल संबंधी गलत मीटर रीडिंग जैसी समस्याओं से छुटकारा मिल जाएगा। ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने यह भी कहा है कि प्रदेश के 3.28 करोड़ विद्युत उपभोक्ताओं को सहज एवं सरल ढंग से सुविधाएं मुहैया कराने के लिए “ट्रस्ट बिलिंग” व्यवस्था की शुरुआत की गई है। अब इस प्रक्रिया को अपनाकर उपभोक्ता घर बैठे अपना खुद का बिल बना सकते हैं।

UPPCL Self Bill Generation Online
UPPCL Self Bill Generation Online

मंत्री जी ने बताया कि ट्रस्ट बिलिंग की सुविधा घरेलू और वाणिज्यिक श्रेणी के नौ किलोवाट भार तक के उपभोक्ता को मिलेगी। अगर आप अपना बिल ऑनलाइन खुद बनाना चाहतें हैं, और तरीका नही पता है तो इस लेख में बताये गए तरीके को फॉलो कर अपना बिल बना सकेंगे।

UPPCL Self Bill Generation Online: Overview

राज्य का नामUttar Pradesh
लेख का नामUPPCL Self Bill Generation Online
योजना का नामOTS Scheme 2023
ऊर्जा मंत्रीA.K. Sharma
ट्रस्ट बिलिंग का कामSelf Bill Generation
विद्युत संबंधी टोल फ्री नंबर1912,1800-180-5025
आधिकारिक वेबसाइटhttps://uppcl.org/
UPPCL Self Bill Generation Online: Overview

उपभोक्ता अपना बिल कब – कब बिल बना सकेंगे?

अगर आप यह सोच रहे हैं कि हम जब चाहे तब बिल अपना बना सकेंगे, लेकिन यह गलत तरीका होगा, क्योंकि उत्तर प्रदेश विद्युत विभाग के ऊर्जा मंत्री एके शर्मा ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि विभागीय वेबसाइट या कंज्यूमर ऐप पर माह में केवल एक बार ही मीटर रीडिंग दर्ज की जा सकेगी।

आप चाह कर भी 1 महीने के पहले अपना बिल जनरेट नहीं कर सकेंगे। अगर एक बार आप अपना बिल मीटर रीडिंग के अनुसार बना देते हैं, तो दूसरी बिल बनाने के लिए आपको एक महीने का इंतजार करना होगा। ऊर्जा मंत्री ने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि विभाग द्वारा उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराई जा रही इस सुविधा का बखूबी प्रचार-प्रसार किया जाए।

जिससे सभी बिजली उपभोक्ता तक यह जानकारी पहुंच सके। और नियमानुसार अपना बिल उपभोक्ता स्वयं बना सकें। आपको बता दें कि इसके सिवाय अन्य विकल्प भी है, आप यूपीपीसीएल के मोबाईल कंज्यूमर ऐप (UPPCL Consumer APP) को एप्पल एप स्टोर अथवा गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर वहां से भी लागिन कर सकतें हैं।

बिल बनाने से पहले ध्यान देने योग्य बातें

जानकारी के लिए आपको अवगत करा दें कि ट्रस्ट बिलिंग की वास्तविकता की जांच करने के लिए बिजली विभाग द्वारा कभी-कभी उपभोक्ता के परिसर पर जाकर मीटर की सही रीडिंग की जांच भी की जाएगी।

अगर जांच के दौरान आपके द्वारा पोर्टल पर खुद से दर्ज करी हुई मीटर रीडिंग और वास्तविक मीटर रीडिंग में ज्यादा अंतर पाया जाता है तो आपके बिल का डेढ़ गुणा अतिरिक्त एनर्जी चार्ज आप के बिल पर थोप दिया जाएगा। इसलिए आपके मीटर में जितनी रीडिंग चली है, उतनी ही रीडिंग आपको बिल बनाते समय मांगे गए आप्शन में दर्ज करनी है।


UP Bijli Self Bill Generation: ऐसे बना सकेंगे खुद का बिल

  • इस सुविधा का लाभ लेने के लिए यूपीपीसीएल की वेबसाइट www.uppcl.org अथवा www.upenergy.in पर लागिन करें।
  • फिर होम पेज पर वेबसाइट के कंज्यूमर कार्नर में जाकर सेल्फ बिल जनरेशन” (Self Bill Generation) लागिन कर रजिस्टर्ड करें।
  • उसके बाद यहां पर अपने विद्युत कनेक्शन के खाता संबंधी मांगे गए विवरण को दर्ज करें।
  • फिर वर्तमान मीटर रीडिंग के साथ पिछले महीने की डिमांड रीडिंग को भी दर्ज कर ओके करना होगा।
  • इस प्रक्रिया को पूरी करने के बाद 24 से 48 घंटे में उपभोक्ता का बिल ऑनलाइन जारी हो जाएगा।

कैसे पता करें बिल जनरेट हुआ या नहीं

अगर आप सोच रहें हैं कि बिल बनाने के बाद कैसे पता चलेगा कि Self Bill Generate हो गया है। तो बता दें कि आपके के रजिस्टर्ड ई-मेल या बिल में दर्ज मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से बिल की पूरी जानकारी मिल जाएगी। इसके सिवाय यूपी पावर कारपोरेशन की वेबसाइट या एप पर लागिन कर अपना बिल डाउनलोड कर चेक कर लें।

अगर आपके द्वारा मीटर रीडिंग दर्ज करने के 48 घंटे बाद भी बिल Generate नही होता है तो आपको बिजली विभाग से संबंधित जेई व एसडीओ से संपर्क कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त यूपीपीसीएल के हेल्पलाइन नंबर 1912 पर भी इसकी शिकायत दर्ज कर सकतें हैं।

Some Important Links

Home PageCLICK HERE
Telegram Group For Latest UpdateCLICK HERE
UPPCL Official WebsiteCLICK HERE
Some Important Links
Join Telegram group Join Now

Leave a Comment