Old Pension Scheme 2023 Latest Update: 1.18 लाख कर्मचारियों ने चुनी पुरानी पेंशन, 346 रहना चाहते हैं NPS में, देखें ताज़ा अपडेट

Join Telegram group Join Now

Old Pension Scheme 2023 Latest Update: अगर आप सरकारी नौकरी करते हैं तो आपके लिए महत्वपूर्ण खबर है। क्योंकि एनपीएस और ओपीएस चुनने की अंतिम तारीख आ चुकी है। आपको एनपीएस या ओपीएस में से किसी एक विकल्प को चुनने का मौका है। अगर इसे चुनने में चूक गये तो रह जायेंगे खाली हाथ। उसके साथ ही अब विकल्प चुनने का अवसर देना बंद कर दिया जायेगा।

आपको इस जानकारी से अवगत करा दें कि केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय (DPPW) ने इसे लेकर ऑफिस मेमोरेडम जारी कर दिया है। इसमें साफ-साफ कह दिया गया है कि अगर आप पुरानी पेंशन चाहते हैं तो इस विकल्प को चुनना होगा। इस पर महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए सरकार ने माना कि केंद्रीय कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना (OPS) में ट्रांसफर करने का ऑप्शन मिलना चाहिए।

यह मौका उन कर्मचारियों पर लागू होगा जो 22 दिसंबर 2003 से पहले विज्ञापित नौकरियों के लिए आवेदन किया था। जिस दिन राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (NPS) लागू की गई थी लेकिन, इसके लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 31 अगस्त 2023 निर्धारित की गई है। आपको बता दें कि 4 मई को सरकार ने हिमाचल प्रदेश के कर्मचारियों को 2 महीने का समय दिया था।

हिमाचल प्रदेश में बीते सोमवार को ओल्ड पेंशन योजना और न्यू पेंशन योजना को चुनने का आखिरी मौका था। और हिमाचल प्रदेश में केवल 346 कर्मचारी ही राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (NPS) में रहना चाहते हैं। और लगभग 1.18 लाख कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन योजना (OPS) को चुना है। ओपीएस और एनपीएस की अधिक जानकारी के लिए लेख के अंत तक बने रहें।

Old Pension Scheme 2023 Latest Update: संछेप में

योजना का नामOPS VS NPS
आर्टिकल का नामOld Pension Scheme 2023 Latest Update
वर्ष2023-24
विरोधNew Pension Scheme (NPS)
सरकारराज्य सरकार
उत्तर प्रदेश में OPS, NPS चुनने की अंतिम तिथि31 अगस्त 2023
Old Pension Scheme 2023 Latest Update: संछेप में

Old Pension Scheme 2023 Latest Update: विस्तार से

Old Pension Scheme 2023 Latest Update: एनपीएस और ओपीएस के बारे विस्तार से समझना अति आवश्यक है। बता दें कि केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय के अपर सचिव संजीव नारायण की तरफ से जारी लेटर के बाद उत्तर प्रदेश के कार्मिक विभाग ने अब इस पर काम करना शुरू कर दिया है। आपको बता दें कि देश में सरकारी कर्मचार‍ियों के ल‍िए जनवरी 2004 से पुरानी पेंशन को खत्‍म करके न्‍यू पेंशन स‍िस्‍टम (NPS) लागू क‍िया गया था।

NPS के अनुसार, कर्मचारी के वेतन से 10% की कटौती की जाती है। और पुरानी पेंशन में GPF की सुविधा तो मिलती है, लेक‍िन नई पेंशन में इसे नही रखा गया है। काफी समय से राज्य और केंद्र के कर्मचारी पुरानी पेंशन को बहाल करने की लगातार मांग कर रहे हैं। आप जानते भी होंगे कि कुछ राज्यों में इसे बहाल भी किया गया है।

Old Pension Scheme 2023 Latest Update
Old Pension Scheme 2023 Latest Update

इसी वजह को देखते हुए केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने केंद्रीय कर्मचारियों को एक मौका दिया है कि वो भी विकल्प को चुनकर इसके पात्र बन सकें। वहीं, हिमाचल प्रदेश में बीते सोमवार को ओल्ड पेंशन योजना और न्यू पेंशन योजना को चुनने का आखिरी मौका था। हिमाचल प्रदेश में केवल 346 कर्मचारी ही राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली यानी एनपीएस के विकल्प को चुना है।

लगभग 1.18 लाख कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन योजना यानी ओपीएस के विकल्प को चुना है। वैसे तो पुरानी पेंशन योजना को लेकर देशभर के कई राज्यों में अभी भी बहस चल रही है, लेकिन हिमाचल में इस कदर बवाल मचा है कि बिजली बोर्ड (HPSEB) के इंजीनियरों और कर्मचारियों के एक संयुक्त मंच ने पुरानी पेंशन योजना (OPS) को तत्काल प्रभाव से लागू करने की मांग उठा दी है।

उत्तर प्रदेश के कार्मिक विभाग ने शुरू की तैयारी

बता दें कि केंद्र के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के कार्मिक विभाग ने इसके दायरे में आने वाले सभी कर्मचारियों को 31 अगस्त 2023 तक ऑप्शन स‍ेलेक्‍ट करने का विकल्प दे द‍िया है। जान लीजिये कि कार्मिक मंत्रालय की तरफ से जारी पत्र में बताया गया क‍ि 22 दिसंबर 2003 तक सरकारी भर्ती के लिए निकले विज्ञापन के तहत जनवरी 2004 के बाद भर्ती होने वालों को पुरानी पेंशन देने के ल‍िए लगातार आवेदन म‍िल रहे हैं।

इसल‍िए 2003 तक के व‍िज्ञापन के आधार पर नौकरी पाने वाले अधिकारियों और कर्मचार‍ियों को पुरानी पेंशन का फायदा देने पर व‍िचार कर लिया गया है। उसके बाद ही इसका ऑप्शन द‍िया गया है। अगर कोई कर्मचारी पुरानी पेंशन के तहत खुद को एनरोल करना चाहता है तो उसको इसका ऑप्‍शन स‍ेलेक्‍ट करना होगा।

अगर 31 अगस्त तक ऑप्शन को सेलेक्ट नही करते हैं तो आपको NPS के अनुसार ही फायदा मिलेगा। जो कोई कर्मचारी पुरानी पेंशन का विकल्प चुनेगा तो 31 अक्टूबर 2023 तक उसके NPS अकाउंट को बंद करके पुरानी पेंशन को बहाल कर दिया जाएगा।

नई और पुरानी पेंशन योजना में अंतर क्या है?

  • बता दे नई पेंशन योजना में कर्मचारियों के वेतन से 10 फीसदी की कटौती की जाती है। जबकि पुरानी पेंशन योजना में वेतन से किसी प्रकार की कटौती नही होती है।
  • पुरानी पेंशन योजना में कर्मचारियों को जनरल प्रोविडेंट फंड(GPF) की सुविधा मिलती है। लेकिन नई पेंशन योजना में जीपीएफ की सुविधा नहीं मिलती है।
  • पुरानी पेंशन योजना में कर्मचारियों के रिटायरमेंट के समय मौजूदा सैलरी की आधी रकम के बराबर पेंशन दी जाती है।जबकि नई पेंशन योजना में इसकी कोई गारंटी नहीं है।
  • नई पेंशन योजना में आपकी कटी सैलरी को शेयर बाजार में लगाया जाता है। और टैक्स का भुगतान करना जरूरी होता है, जबकि पुरानी पेंशन में यह नियम लागू नहीं होता है।
  • पुरानी पेंशन योजना के अनुसार,रिटायर हुए कर्मचारियों के वेतन का भुगतान सरकारी राजकोष से किया जाता है। लेकिन नई पेंशन योजना में भुगतान शेयर बाजार पर निर्भर है।

पुरानी पेंशन योजना किस सरकार द्वारा बंद की गई?

मीडिया रिपोर्ट से मिली जानकारी के मुताबिक, जब पुरानी पेंशन योजना (OPS) बंद की गई थी तब मौजूदा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सरकार बनी हुई थी। इस सरकार ने पुरानी पेंशन योजना को 1 अप्रैल 2004 को बंद कर दिया। सरकार ने कहा कि इस योजना को बंद करने से सरकारी राजकोष को फायदा होगा।

इसके बंद होने से सरकारी कर्मचारियों को सेवानिवृत्त होने के बाद अंतिम वेतन की आधी वेतन पेंशन के रूप में अब नहीं देनी पड़ेगी। और सरकारी कर्मचारियों के वेतन का भुगतान सरकार की ट्रेजरी के माध्यम से भी नहीं होगा। इससे सरकार का खर्चा कम होगा। इसी तरह की लेटेस्ट अपडेट पाने के लिए आप आर्टिकल के अंत में दिए गए टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर सकते हैं।

Important Links

18 Months DA Arrears News TodayClick Here
Home PageClick Here
Telegram ChannelClick Here
Old Pension Scheme 2023 Latest UpdateClick Here
Important Links
Join Telegram group Join Now

Leave a Comment